ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
होमसमाचारविश्व कप समाचारSimon Jordan ने एमिलियानो मार्टिनेज के बर्ताव पर खसा तंज़

Simon Jordan ने एमिलियानो मार्टिनेज के बर्ताव पर खसा तंज़

Simon Jordan ने एमिलियानो मार्टिनेज के बर्ताव पर खसा तंज़

Simon Jordan ने एमिलियानो मार्टिनेज के बर्ताव पर खसा तंज़। Simon Jordan को एमिलियानो मार्टिनेज के फाइनल के दौरान पेनाल्टी शूट आउट मे उनका नजरिया बिल्कुल भी पसंद नही आया जो उन्होंने जीत के दौरान किया। अर्जेंटीना ने फ्रांस को पेनाल्टी शूट आउट मे 4-2 से फ्रांस को हराकर फाइनल का खिताब अपने नाम किया था, 18 दिसंबेर को ल्युसैल् स्टेडियम मे। जहाँ मेस्सी ने दो गोल और डी मरिया ने  एक गोल किया और एम्बापें ने हट्रिक् दाग दिया था। और आखरी लम्हो मे उन्होंने बड़ी जीत हासिल की।

मेने इसकी अपेक्षा एमिलियानो मार्टिनेज से नही की थी

30 वर्षीय मार्टिनेज ने वर्ल्ड कप के हीरो कि तरह उभरे, पर आखरी मे उनके कुछ कृतियों ने एक संदेह का माहोल पैदा कराया था।ऑरेलियन टचौमेनी की स्पॉट-किक से पहले, उन्हें मिडफील्डर के एकाग्रता स्तर को रोकने करने के प्रयास में गेंद को दूर फेंकते देखा गया था। और उनकी ये चाल कामयाब हो गई  जिसके कारण उनके द्वारा दागा गया शॉट दूर चला गया था।

मीडिया से बात करने पर Simon Jordan ने कहा कि मे मार्टिज़ से पूछना चाहूँगा जो तुमने किया क्या वो वाकई मे सही था। ये ज़रा जर धोका है, तुमने धोका दिया है जिस तरह से बाल को पकडा गया और जिस तरह से तुमने गेंद को दूसरी तरफ फेका, क्या येही है तुम्हारी स्पोर्समंशिप, क्या येही आप लोग सिखाएँगे आगे आने वाली पीढ़ी को। अगर आपको येही करना है तो मे ये पूरी तरह से इसे धोका मानूँगा।

पढ़े :Ronaldo Nazario ने मेस्सी को वर्ल्ड कप जीतने कि बधाईं दी

उन्होंने आगे कहा एक रेफरी गोल कीपर को इतनी चुट केसे दे सकता है कि वो खेल कि स्थिति को बदल कर रख देदबाव बढ़ाना, इसे बढ़ाना, मुझे लगता है कि उस समय की कमियों में से एक थीथी जिस कारण से वो शूट आउट दंग से नही लिया जा सके। मार्टिनेज जिन्होंने 3 गोल को नकारा उन्हे गोल्डँ ग्लोव से भी नवाजा गया था।

जो उन्होंने अर्जेंटीना कि जीत मे मेहत्वपूर्ण योगदान दिया था, पेनाल्टी शूट आउट से पहले मार्टिनेज ने एक और जबरदस्त सेव किया था खेल के दौरान जब रैंडल कोलो मुनी के गोल को मैच के आखरी कुछ मिंटो मे उन्होंने उसका बचाव किया था। अगर वो गोल नही बचाते तो 4-3 से फ्रांस आगे हो जाता और मुकाबले का नतीजा भी कुछ और हो सकता था।

Satish Kumar
Satish Kumarhttps://footballskynews.com/
मैं फुटबॉल का प्रशंसक हूं और फुटबॉल के बारे में लिखना पसंद करता हूं। मैंने अपनी पसंदीदा टीमों पर एक ब्लॉग पोस्ट लिखा है,

संबंधित फुटबॉल न्यूज़

नवीनतम फुटबॉल न्यूज़