ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
होमसमाचारइंग्लिश प्रीमियर लीग न्यूज़Bhupinder singh बनने वाले है epl के पहले सिख असिस्टेंट रेफरी

Bhupinder singh बनने वाले है epl के पहले सिख असिस्टेंट रेफरी

Bhupinder singh बनने वाले है epl के पहले सिख असिस्टेंट रेफरी

Bhupinder singh बनने वाले है epl के पहले सिख असिस्टेंट रेफरी। bhupinder प्रीमियर लीग मे पहले सिख असिस्टेंट रेफरी बनेंगे जहा साउथेम्प्टन मेजबानी करेंगे नॉटिंघम वन की। bhupinder singh पूर्व रेफरी जरनैल सिंह के बेटे है जिन्होंने भी epl मे रेफरी थे। जरनैल सिंह पहले पगड़ी दार है जिन्होंने प्रीमियर लीग मे रेफरी कि है।

पहले सिख असिस्टेंट रेफरी बनने पर bhupinder ने अपनी खुशी जताई है उन्होंने कहा कि उनके पिता उनके लिए बहुत बड़े रोल मॉडल रहे है। bhupinder वैसे बचपन से ही ओफीसीएट करना शुरू कर दिया था। वो अपने प्रीमियर लीग ओफीसीएट पर बहुत ही उत्सुक है।

Bhupinder ने कहा पूरी निष्टा से करेंगे काम

वे अपने पेहला मुकाबला जनवरी 4 को हो रहे साउथेम्प्टन बनाम नॉटिंघम मुकाबले को ओफीसीएट करेंगे। थॉमस ब्रामल उस मैच के में रेफरी होंगे जो ग्राउंड मे होने वाले गति विधियों पर अपनी नज़र बनाके रखेंगे। मैक पैरी उनके जोड़ी दार असिस्टेंट रेफरी होंगे, जॉन ब्रूक्स फोर्थ ऑफिशियल  होंगे, ली मन्सों मैच के VAR होंगे और डारेन् असिस्टेंट VAR होंगे।

Bhupinder एक पीई टीचर है, और वे जरनैल सिंह के छोटे बेटे है।जरनैल सिंह ने 150 के उपर ओफीसीएट किया है प्रीमियर लीग के खेलो मे जो 2004 से लेकर 2010 तक मे और कुछ मैचों मे उन्होंने फोर्थ ऑफिशियल का काम भी किया है। bhupinder ने मीडिया को अपने इस काम पर खुशी जताते हुए सबको धन्यवाद किया।

Bhupinder के भाई सनी ने भी ये कहा है कि वे अपने पिता के नक्शे खदम् पर चलना चाहते है और वे एक दशक से अधिक समय पहले अपने पिता के बाद से किसी इंग्लिश फुटबॉल लीग खेल में रेफरी बनने वाले पहले ब्रिटिश दक्षिण एशियाई बन गए। 2010 के फाइनल मे रेफरी करने वाले रेफरी हॉवर्ड वेब ने कहा कि पहले bhupinder और सनी को प्रीमियर लीग का अनुभव लेना चाहिए, फिर वे धीरे धीरे फीफा के मैचों को ओफीसीएट कर पाएंगे।

ये दोनो के लिए होगा ऐसा मे पूरी तरह से नही केह सकता हूँ पर हाँ दोनो मे से किसी एक को ये सौभाग्य मिल सकता है। पर मुझे पता है कि दोनो बहुत ही टैलेंटेड है, और मुझे पुरा भरोसा हैं कि वे खेल कि भलाई के लिए अपना सयोग देते रहेंगे। जैसे उनके पिता ने इतने सालों से किया है।

Satish Kumar
Satish Kumarhttps://footballskynews.com/
मैं फुटबॉल का प्रशंसक हूं और फुटबॉल के बारे में लिखना पसंद करता हूं। मैंने अपनी पसंदीदा टीमों पर एक ब्लॉग पोस्ट लिखा है,

संबंधित फुटबॉल न्यूज़

नवीनतम फुटबॉल न्यूज़