ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
होममैच की समीक्षाविश्व कप मैच की समीक्षाArgentina ने किया अपने 36 साल का इंतज़ार खत्म

Argentina ने किया अपने 36 साल का इंतज़ार खत्म

Argentina ने किया अपने 36 साल का इंतज़ार खत्म

Argentina ने किया अपने 36 साल का इंतज़ार खत्म जीता अपना 3 वर्ल्ड कप और मेस्सी को भी मिला अपना पेहला वर्ल्ड कप। फाइनल का मुकाबला एक दम वैसा ही गया जैसा एक फाइनल कि अपेक्षा कि गई थी। मेस्सी और म्ब्बापे दोनो ने अपने मैच को बड़े ही अच्छे तरीके के खेला पर आखिर मे जीत मेस्सी कि हुई। आखिर मे मैच ने कही करवट  लिए जिसे मैच को किसी भी टीम कि तरफ मौड सकता था।

Argentina ने शुरुआती पलो मे दिया फ्रांस को झटका

मैच से पहले वर्ल्ड कप के आखरी मुकाबले को शुशोभित करने के लिए पटाखो कि बोचार लगा दी गई थी। फिर फाइनल मुकाबले का शुभ आरंभ हुआ जिसमे argentina ने एकदम आक्रामक शुरुआत कर दी। फ्रांस ने ऐसे खेल अपेक्षा इतनी जल्द नही कि थी। argentina ने दबाब बड़ाना शुरू कर दिया था और उस दबाव का परिणाम भी उन्हे जल्द ही मिल गया था।23 वे मिनट मे डेम्बेले के द्वारा डी मरिया के उपर किए गए फॉउल पर पेनाल्टी दी गई। और उस पेनाल्टी को मेस्सी ने दागकर इस वर्ल्ड कप मे अपना 6 गोल किया।

उसके कुछ ही पल के बाद डी मरिया को एक सीधी बाल मिली जिसे उन्होंने काउंटर अटैक बनाते हुए अपना पेहला गोल दागा और argentina को 2-0 कि लीड दे दी। फाइनल मुकाबले मे 2-0 कि बढ़त से फ्रांस बिल्कुल दंग रह गया था और इसी बीच हॉफ टाइम भी घोषित कर दिया गया था।

हॉफ टाइम के बाद मुकाबला फिर argentina ही चला रहे थे। फ्रांस के खिलाडी तो मानो खेलना ही भूल गए हो। 50 वे मिनट के बाद फ्रांस ने भी अपनी प्रतिक्रिया दिखाना शुरू कर रहा था। गत विजयता होने के के कारण फ्रांस को पूरी तरह से नज़र अंदाज़ भी नही किया जा सकता था। फिर आया फ्रांस के पलटवार का समय जहाँ उन्होंने 80 मिनट मे म्ब्बापे के गोल द्वारा अपना पेहला गोल दर्ज किया। म्ब्बापे ने अब तक अपनी लय प्राप्त कर ली थी।

पढ़े : Andriy Shevchenko ने कहा कि मेस्सी वर्ल्ड कप के हकदार है

82 मिनट मे म्ब्बापे ने दूसरा गोल करके फ्रांस को मुकाबले मे बनाये रखा। अब दोनो टीम गोल कि तलाश मे अपना सब कुछ झोकने के लिए त्यार हो चुकी थी। 105 मिनट मे मर्टनीज़ के प्रयास को विफल किया गया, फिर 108 मिनट मे दुबारा मार्टिनेज के शॉट को इस बार मेस्सी ने रेबॉण्ड लेकर 3-2 स्कोर कर दिया था। एक्स्ट्रा टाइम के अंत मे म्ब्बापे ने फिर से एक गोल करके  मुकाबले को पेनाल्टी शूट आउट के तरफ लेकर गए।

पेनाल्टी शूट आउट कि कहानी

Argentina ने कभी नही सोचा था कि फ्रांस दो गोल से पिछड़ कर मैच को पेनाल्टी शूट पर ले जाएगी, ये वर्ल्ड कप ही कुछ ऐसा था कि कुछ केहना आसान नही था। पेनाल्टी शूट आउट मे मेस्सी और म्ब्बापे ने अपने पेनाल्टी सही से लिए पर फ्रांस के लिए आज दिन खराब ही गया आखिर दो पेनाल्टी उन्होंने बहुत बुरी तरह से मिस किए जिससे argentina ने पेनाल्टी शूट आउट को 4-2 से जीतकर वर्ल्ड कप अपने नाम किया। और 3 बार वर्ल्ड कप को अपने नाम किया।

Satish Kumar
Satish Kumarhttps://footballskynews.com/
मैं फुटबॉल का प्रशंसक हूं और फुटबॉल के बारे में लिखना पसंद करता हूं। मैंने अपनी पसंदीदा टीमों पर एक ब्लॉग पोस्ट लिखा है,

संबंधित फुटबॉल न्यूज़

नवीनतम फुटबॉल न्यूज़